नई दिल्ली: देश में कोरोना वायरस का प्रकोप लगातार बढ़ता ही जा रहा है| सरकारी अस्पतालों के बेड फुल नजर आ रहे हैं और प्राइवेट अस्पतालों में इसका इलाज भी काफी महंगा है| ऐसे में कोरोना संक्रमितों को प्राइवेट अस्पतालों की ओर रूख करने के अलावा कोई चारा नहीं बचता| प्राइवेट अस्पतालों में इलाज कराना काफी महंगा है| ऐसे में अगर आप सरकार की तरफ निगाह दौड़ाएंगे तो आपको केंद्र सरकार की तरफ से शुरू की गई आयुष्मान भारत योजना जरूर मालूम होगी|

इस योजना के तरह हर परिवार को साल में एक बार 5 लाख रुपये तक फ्री में इलाज किया जाता है| इसके लिए लाभ हासिल करने वालों को ई-कार्ड दिया जाता है| इस कार्ड के जरिए कैशलेस सर्विस का आसानी से लाभ उठा सकते हैं| लेकिन इस योजना का लाभ आपको तभी मिलेगा जब आपका नाम इस योजना में शामिल होगा|