प्रयागराज: यमुनापार में खीरी इलाके के नीवी गांव में महिला को रात में पेड़ पर रस्सी से बांधकर बेरहमी पीटकर हत्या कर दी गई। सुबह घर के बाहर पेड़ के सामने महिला की लाश मिली और पीटने वाला गांव का व्यक्ति फरार था। एसपी यमुनापार और सीओ ने पुलिस के साथ जांच की। छापेमारी की गई लेकिन संदिग्ध कातिल पकड़ में नहीं आया।

adv

शराब के लती नीबी गांव निवासी भोला शंकर बिंद ने छह महीने पहले 15 बिस्सा जमीन गांव के विनोद कुमार दुबे उर्फ मन्नू को बेची थी। उससे कुछ पैसे लिए और बाकी बकाया छोड़ दिया था। तब से वह नशे में डूबा रहता था। तीन महीने से वह घर नहीं आ रहा है। 36 वर्षीय पत्नी रीता चार बच्चों के साथ गुजारा करती रही। बच्चों में दो बेटियां 17 साल की बबीता कुमारी उर्फ मुंदर, 12 साल की सरस्वती और दो बेटे छह साल का ओमप्रकाश तथा चार वर्ष का राजा है। भोला के लापता होने के बाद से उसकी पत्नी रीता बकाया पैसे विनोद दुबे से मांगती थी। विनोद अक्सर उसके घर आने लगा था।

बेटियों ने बताया कि बुधवार आधी रात भी विनोद घर आया था। तब मां रीता से उसकी काफी कहासुनी हुई थी। वह उसे दूसरे कमरे में ले गया और फिर बाहर खींचकर पीटने लगा था। रात में करीब दो बजे आसपास के लोगों ने देखा कि रीता को पेड़ पर बांधकर विनोद उसे पीट रहा है। लोगों ने टोका तो विनोद ने धमकी देकर भगा दिया। लोग वैसे भी विनोद की दबंगई की वजह से चुप्पी साधे रहते थे।

भोर में करीब चार बजे बेटी बबीता ने रीता को घर के बाहर पेड़ के पास मृत पड़ा देखा तो शोर मचाया। रीता के भाई रामसूरत बिंद ने कहा कि विनोद ने बकाया पैसे देने की बजाय उसकी बहन को मार डाला है। रामसूरत ने रीता के पति पर शक जताया कि उसका भी इस घटना में हाथ है।

यह भी पढ़े- प्रयागराज में लड़कों को ट्रेंड करके करवा रहा था मोबाइल छिनैती, 29 मोबाइल, 2 बाइक के साथ तीन गिरफ्तार

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here