प्रयागराज: कोविड-19 महामारी के समय लॉकडाउन की वजह से बहुत नकारात्मक प्रभाव पड़ा है। इस समय वर्चुअल लेखांकन से कार्यों को और अधिक सरल एवं सहज बना सकते हैं जिससे अर्थव्यवस्था में तेजी लाई जा सकती है। यह बातें नेहरू ग्राम भारती मानित विश्वविद्यालय के लेखा विभाग द्वारा आयोजित एक दिवसीय वेबिनार में बोलते हुए पूर्व डायरेक्टर जनरल इनकम टैक्स ( यू०पी० एवं उत्तराखंड) सदाशिव वाजपेयी ने कहीं।

उन्होंने अपने उद्बोधन में आगे कहा कि हमें आत्मनिर्भर बनते हुए संसाधनों का बेहतर उपयोग करने में सक्षम होना चाहिए। विशिष्ट वक्ता के रूप में बोलते हुए क्लेम कमेटी के सदस्य एवं ख्यातिलब्ध चार्टर्ड अकाउंटेंट रमेश चन्द्र अग्रवाल ने कहा कि कोविड-19 से भारतीय अर्थव्यवस्था को उबारना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। इस कार्य में लेखांकन की समयबद्धता अर्थव्यवस्था को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है।

मानित विश्वविद्यालय के कुलाधिपति जे०एन० मिश्र ने अपने उद्बोधन में कहा कि चुनौतियां बहुत हैं हम सबको मिलकर आगे बढ़ना होगा निश्चित ही हम दृढ़ इच्छाशक्ति से इस समस्या से निकलने में सफल होंगे। कुलपति डॉ० एस०सी० तिवारी ने अर्थव्यवस्था में प्रवासी श्रमिकों की समस्याओं एवं उपलब्धता को रेखांकित किया। लखनऊ से सीए पवन कुमार धवन, प्रयागराज से सीए दिव्या चन्द्रा एवं सूरत से सीए आदित्य दरक ने भी वेबिनार को सम्बोधित किया। वेबीनार के अंत में विशेषज्ञों ने प्रतिभागियों के प्रश्नों के उत्तर दिये।

वेबीनार का संचालन आयोजन सचिव पूनम तिवारी ने तथा धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव आर०एल० विश्वकर्मा ने किया। वेबिनार में मोनिशा गुप्ता, सौरभ प्रजापति अपूर्वी, सत्येंद्र तिवारी तथा लेखा विभाग के सभी सदस्यों सहित बड़ी संख्या में प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here