Advertisement

नई दिल्ली: भारतीय कप्तान विराट कोहली सिडनी टेस्ट मैच में 23 रन बनाकर आउट होने के बावजूद भी एक नया इतिहास रच दिया। अपनी इस पारी के दौरान विराट ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर को पीछे छोड़ते सबसे तेज 19000 रन बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। उन्होंने 399 पारियों में ये कमाल किया है।

adv

इससे पहले अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज 19000 रन बनाने का रिकॉर्ड पूर्व भारतीय बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर के नाम पर था। सचिन ने 432 पारियों में ये कमाल किया था। अब विराट ने सचिन के पीछे छोड़ते हुए ये नायाब रिकॉर्ड अपने नाम पर कर लिया है। आपको बता दें कि इससे पहले विराट कोहली ने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में सबसे तेज 15000, 16000, 17000, 18000 रन पूरे किए थे। अब उन्होंने सबसे तेज 19000 रन बनाने का रिकॉर्ड भी अपने नाम कर लिया है। अब विराट के नाम 357 अंतरराष्ट्रीय मैचों की 399 पारियों में 56.24 की औसत से 19012 रन हो गए हैं। विराट ने इस दौरान 63 शतक और 87 अर्धशतक लगाए हैं। विराट के नाम वनडे क्रिकेट में 10232, अंतराष्ट्रीय टी-20 में 2167 और टेस्ट में 6613 रन हो गए हैं।

भारतीय कप्तान विराट कोहली इस टेस्ट सीरीज में इतिहास रचने की दहलीज पर खड़े हैं। सिडनी टेस्ट मैच जीतते ही वो पहले ऐसा भारतीय कप्तान बन जाएंगे जिनकी अगुआई में टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया में कोई टेस्ट सीरीज जीतेगी। सिडनी टेस्ट मैच में विराट ने टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी का फैसला किया और उनकी ये फैसला सही रहा। मैच के पहले दिन का खेल खत्म होने तक भारतीय टीम ने चार विकेट के नुकसान पर 303 रन बना लिए हैं। हालांकि जिस तरह की भारतीय टीम की शुरुआत हुई है उससे तो यही लगता है कि टीम इंडिया यहां से ये मैच हार नहीं पाएगी।

सिडनी टेस्ट मैच की पहली पारी में भारतीय ओपनर बल्लेबाज मयंक अग्रवाल ने शानदार अर्धशतकीय पारी खेलते हुए 77 रन बनाए। इस मैच में एक बार फिर से लोकेश राहुल फेल रहे लेकिन पुजारा का शानदार फॉर्म जारी रहा और इस टेस्ट सीरीज में उन्होंने अपना तीसरा शतक लगाया। पहले दिन का खेल खत्म होने तक पुजारा 130 रन बनाकर नाबाद पवेलियन लौटे थे जबकि हनुमा विहारी 39 रन बनाकर नाबाद रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here