आगरा: खाने को लजीज बनाने के अलावा नमक का इस्तेमाल जीवन को भी मजेदार बनाने में किया जा सकता है| वास्तु विज्ञान के अनुसार नमक में गजब की शक्ति होती है जो न सिर्फ आपके घर को सकारात्मक उर्जा से भर देती है बल्कि आपके घर में सुख समृद्धि भी बढ़ाने का काम करती है। लेकिन इसके लिए सिर्फ खाने में नमक नहीं कई दूसरे कामों में भी नमक का प्रयोग करना होगा।

नमक का इस्तेमाल नकारात्मक उर्जा दूर करने वाला भी माना जाता रहा है। इसलिए नमक का इस्तेमाल नजर दोष उतारने के लिए भी किया जाता है। वास्तु विज्ञान के अनुसार शीशे के प्याले में नमक भरकर शौचालय और स्नान घर में रखना चाहिए इससे वास्तुदोष दूर होता है। इसका कारण यह है कि नमक और शीशा दोनों ही राहु के वस्तु हैं और राहु के नकारात्मक प्रभाव को दूर करने का काम करते हैं। राहु नकारात्मक उर्जा और कीट-कीटाणुओं का भी कारक माना गया है। जिनसे घर में सुख समृद्धि और स्वास्थ्य प्रभावित होता है।

शीशे के बर्तन में नमक भरकर घर के किसी कोने में रखने से घर में सकारात्मक उर्जा का संचार होता है। राहु, केतु की दशा चल रही हो या जब मन में बुरे-बुरे विचार या डर पैदा हो रहे हों तब यह प्रयोग बहुत लाभ देता है।

डली वाला नमक लाल रंग के कपड़े में बांधकर घर के मुख्य द्वार पर लटकाने से घर में किसी बुरी ताकत का प्रवेश नहीं होता है। कारोबर में उन्नति के लिए अपने व्यापारिक प्रतिष्ठान के मुख्य द्वार पर और तिजोरी के ऊपर लटकाना लाभप्रद माना गया है।

रात को सोते समय पानी में एक चुटकी नमक मिलकार हाथ पैर धोने से तनाव दूर होता है और नींद अच्छी आती है। राहु और केतु के अशुभ प्रभाव भी इससे दूर होते हैं।

घर में सकारात्मक उर्जा की वृद्धि के लिए रॉक साल्ट लैंप रख सकते हैं। वास्तु विज्ञान के अनुसार यह पारिवारिक जीवन में आपसी तालमेल के साथ ही सुख समृद्धि को बढ़ाने में भी सहायक होता है। स्वास्थ्य संबंधी मामलों में भी यह सकारात्मक प्रभाव डालता है।

घर की खुशियां बच्चों से होती है। बच्चे बीमार हो जाएं तो पूरा घर परेशान हो जाता है। अपनी इस खुशी को हमेशा बनाए रखने के लिए हफ्ते में एक दिन पानी में चुटकी भर नमक मिलाकर बच्चों को नहलाएं तो नजर दोष से बच्चे बचे रहेंगे और स्वास्थ्य संबंधी परेशानी कम होगी।

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here