Advertisement

डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य के बेटे योगेश मौर्य के साथ चुनाव प्रचार के दौरान मारपीट के मामले में FIR दर्ज कराने के महज 48 घंटे के भीतर मुकदमा वापस करने के लिए एसपी को प्रार्थना पत्र दिया है। इसमें उन्होंने बताया कि मुकदमे में नामजद युवाओं के भविष्य को देखते हुए यह फैसला लिया है।

adv

पिछले दिनों हुए विधानसभा चुनाव के दौरान पइंसा कोतवाली क्षेत्र के उदिहिन बुजुर्ग गांव में पिता केशव मौर्य के पक्ष में चुनाव प्रचार करने गए योगेश मौर्य के साथ मारपीट हुई थी। घटना के दो महीने बाद योगेश मौर्य ने 23 अप्रैल को पइंसा कोतवाली में 48 लोगों के खिलाफ मारपीट और बलवा करने का मुकदमा दर्ज कराया था।

सोमवार को पुलिस अधीक्षक को मुकदमा वापस लेने का प्रार्थना पत्र देने के साथ ही मीडिया से बात करते हुए योगेश मौर्य ने बताया कि उनके साथ चुनाव प्रचार के दौरान इलाके के ही कुछ अराजकतत्वों ने दुर्व्यवहार किया था।

इसके साथ ही सोशल मीडिया के प्लेटफॉर्म पर पिछले कई दिनों से उनके खिलाफ अभद्र टिप्पणी की जा रही थी। इससे आहत होकर उन्होंने गांव के 48 लोगों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया था। योगेश ने बताया कि मुकदमा दर्ज होने के बाद उनके पास क्षेत्र के लोगों ने आकर माफी मांगी।

उनका कहना था कि मुकदमा दर्ज होने और उसके आगे की कार्यवाही में गांव के बहुत सारे नौजवानों, बेरोजगारों का भविष्य खराब हो जाएगा। इसे ध्यान में रखते हुए उन्होंने मुकदमा वापस लिया है। एसपी हेमराज मीणा ने बताया कि योगेश मौर्य ने मुकदमा वापस लेने का प्रार्थना पत्र दिया है। इसके आधार पर आगे की विधिक कार्यवाही की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here