बांदा: शहर कोतवाली क्षेत्र के चमरौडी इलाके में शुक्रवार देर रात कांस्टेबल और उसके परिवार के दो लोगों पर लाठी-डंडों और धारदार हथियार से हमला कर उन्हें मौत के घाट उतार दिया गया| बताया जा रहा है कि चचेरे भाइयों के मामूली से आपसी विवाद के बाद बात इतनी बढ़ गई कि एक पक्ष के लोगों ने हमला कर एक पुलिस कांस्टेबल, उसकी मां और उसकी बहन की निर्मम हत्या कर दी|

वहीं, सूचना मिलने पर आईजी, डीएम और एसपी भारी पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे. घटनास्थल का निरीक्षण करने के बाद मृतकों के शव को पोस्टमार्टम के लिए भेजा गया| फॉरेंसिक टीम की मदद से घटनास्थल से सबूत इकट्ठा किए गए| इस पूरे मामले में पुलिस ने अभी तक तीन हमलावरों को हिरासत में लिया है| बाकी आरोपियों की तलाश के लिए पुलिस टीमें दबिश दे रही हैं|

शहर कोतवाली क्षेत्र के चमरौडी इलाके में देर रात बांदा के रहने वाले प्रयागराज में तैनात कांस्टेबल अभिजीत वर्मा, मां रमावती और बहन निशा वर्मा की उसके ही चचेरे भाइयों ने हत्या कर दी| जानकारी के मुताबिक लगभग आधी रात को अभिजीत के परिवार के लोगों का उसके चचेरे भाई शिवपूजन और अन्य लोगों से ‘जूठे चावल’ फेंकने को लेकर कहासुनी होने लगी| इसी दौरान उसके चचेरे भाइयों ने अचानक लाठी, डंडों और धारदार हथियार से उन पर हमला कर निर्मम हत्या कर दी| इसके बाद वह मौके से फरार हो गए|

जैसे ही घटना की जानकारी पुलिस और प्रशासन के आलाधिकारियों को मिली, तभी मौके पर आईजी के. सत्यनारायण, डीएम आनंद कुमार और एसपी सिद्धार्थ शंकर मीणा भारी पुलिस बल लेकर घटनास्थल पर पहुंचे और जांच पड़ताल की|

चचेरे भाइयों के आपसी विवाद के दौरान बीच बचाव में घायल हुए मृतक कांस्टेबल अभिजीत के साथी दिलीप ने बताया कि अभिजीत के चचेरे भाइयों ने बीते शुक्रवार उसके घर की तरफ जूठा चावल फेंक दिया था| जिसको लेकर जब उसकी बहन ने मना किया तो उसके चचेरे भाई शिवपूजन ने उसकी बहन के साथ गाली-गलौज की थी| जिस पर अभिजीत को जब पता चला तो उसने डांटा और इस मामले की चौकी में भी शिकायत की| इसी बात की खुन्नस लिए आरोपियों ने अभिजीत और उसके परिवार पर हमला कर दिया और जब दिलीप बीच-बचाव के लिए आया तो हमलावरों ने उसे भी लाठी-डंडों से पीट दिया|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here