प्रयागराज: नेहरू ग्राम भारती मानित विश्वविद्यालय में आयोजित दो दिवसीय वार्षिक क्रीड़ा समारोह के समापन सत्र में मुख्य अतिथि के रूप में सम्बोधित करते हुए प्रयागराज के डीआईजी कारागार पी०एन० पाण्डेय ने कहा कि खेल संघर्ष सिखाता है। जीवन के विभिन्न संघर्षों में इससे हमें शक्ति मिलती है।

उन्होंने कहा कि जीवन में उतार चढ़ाव आते रहते हैं, खेल हमें संघर्ष करना सिखाता है। प्रति कुलपति डॉ० एस.सी.तिवारी ने अपने उद्बोधन में विजेता खिलाड़ियों को बधाई देते हुये कहा कि विश्वविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने विभिन्न खेलों में बहुत उत्साहपूर्वक भाग लिया। उन्होंने कहा कि क्रीड़ा समारोह को अगले वर्ष से और विस्तार दिया जाएगा। दो दिवसीय खेल प्रतियोगिताओं की रूपरेखा डॉ० संजय सिंह ने रखते हुए बताया कि इसमें 26 खेलों का आयोजन किया गया। खेल प्रतियोगिताओं के अंत में विजेता प्रतिभागियों को कार्यक्रम के मुख्य अतिथि डीआईजी कारागार पी०एन० पाण्डेय ने मेडल प्रदान किया।

वार्षिक क्रीड़ा समारोह के द्वितीय दिन कबड्डी में कला संकाय की महिला टीम एवं बीएलएड की टीम विजेता रही। हैमर थ्रो में मयंक कुमार, सूरज मिश्रा, हर्ष सिंह क्रमशः प्रथम द्वितीय एवं तृतीय रहे। कबड्डी पुरुष में विधि विभाग की टीम विजेता रही। ऊॅची कूद महिला में रोशनी मिश्रा, शिवानी पाण्डेय, कोमल कुशवाहा क्रमशः प्रथम द्वितीय एवं तृतीय रहीं। भाला फेंक में विकास वर्मा, अमित सिंह, शिवम मिश्र क्रमशः प्रथम द्वितीय एवं तृतीय रहे। लांग जम्प में हर्ष एवं ऊॅची कूद में संदीप ने बाजी मारी।

पाॅच हजार मीटर दौड़ में अश्वनी यादव एवं महिमा गौड़ ने तथा सौ मीटर रेस में आशीष यादव तथा श्रद्धा पाण्डेय अपने वर्ग में प्रथम स्थान पर रहे। बेस्ट एथलीट सौरभ शर्मा को घोषित किया गया। कार्यक्रम के समापन सत्र में स्वागत भाषण प्रोफेसर के०के० तिवारी, मंच संचालन डॉ० धर्मेंद्र शुक्ला ने तथा धन्यवाद ज्ञापन कुलसचिव आर०एल० विश्वकर्मा ने किया।

कार्यक्रम में भारी संख्या में छात्र-छात्राएं, विश्वविद्यालय के शिक्षकगण एवं कर्मचारी उपस्थित रहे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here