इलाहाबाद: नेहरू ग्राम भारती मानित विश्वविद्यालय के शाेध केन्द्र परिसर में 01 फरवरी 2020 काे कार्यक्रम थॉट स्पेक्ट्रम के अन्तर्गत ख्यातिलब्ध शिक्षाशास्त्री, वक्ता, ट्रेनर एवं काेच (व्हाइट लैडर कन्सल्टिंग के काेफाउन्डर) विराज कालरा अपना व्याख्यान “ग्रामीणांचल यूवाआें काे लीडरशिप, इनाेवेशन एवं क्रिएविटी” विषय पर देंगे इसके साथ ही वे ग्रमीण युवाआें काे लीडरशिप क्वालिटी के विकास के गुर भी सिखाएंगे।

विराज कालरा जाने माने वक्ता हैं साेशल मीडिया पर इनके प्रसंशकाें की संख्या भारी तादात में है. इसी के अन्तर्गत विश्वविद्यालय के सिविल लाइन्स परिसर में आ़याेजित प्रेस कॉन्फ्रेन्स काे सम्बाेधित करते हुए विराज कालरी ने बताया कि एक अफ्रीकी कहावत है “यदि आप तेजी से आगे जाना चाहते हैं, अगर आप दूर तक जाना चाहते हैं तो साथ में जाएं।”

हमारा मिशन हमारे ग्रामीण युवाओं के लिए एक वैश्विक मंच तैयार करना है जहां विभिन्न क्षेत्रों के प्रतिनिधि आगे आते हैं और ग्रामीण क्षेत्रों के व्यापक स्तर पर युवाओं के लिए अपने ज्ञान और अनुभव की गहराई को साझा करते हैं, उन्हे नवाचार एवं संरचनात्मक कार्याें में संलग्न करने और उन्हें एक उद्देश्यपरक जीवन की आेर अग्रसर बनाने में मदद करने के लिए।

 

उन्हें वैश्विक दुनिया की बेहतर समझ के साथ वर्तमान लहर से एवं ज्ञान से अधिक जाेड़ते हुए सक्षम बनाना है।
थॉट स्पेक्ट्रम के अन्तरगत इस तरह के कार्यक्रम आयाेजित किए जा रहे हैं कि जिससे शिक्षा के द्वारा ग्रामीण युवाओं काे आैर अधिक सशक्त बनाया जा सके। इस तरह के आयाेजन वैश्विक समुदाय के निर्माण का प्रयास करता है जहां विचारों, सांस्कृतिक मूल्यों, असंख्य जीवन शैली और दृष्टिकोणों के इंटरैक्टिव आदान-प्रदान को एक आम धारा में चर्चा और बहस में शामिल करने के लिए लाया जाता है ताकि ग्रामीण युवा भी उसमें शामिल हो सकें, अपने शहरी समकक्षों की तरह समान विकास, जोखिम और अवसरों तक पर्याप्त पहुंच स्थापित कर सकें। थॉट स्पेक्ट्रम की निदेशक स्मिता मिश्रा ने बताया कि इस तरह के कार्यक्रम में देश के जाने माने शिक्षाविदाें एवं वक्ताआें काे अमंत्रित किया गया है जिससे ग्रामीणांचल यूथ काे सशक्त, सक्षम एवं जागरूक किया जा सके।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here