प्रयागराज: कर्नलगंज थाना क्षेत्र के मनमोहन पार्क के पास बुधवार शाम कार सवार युवकों ने स्कूल प्रबंधक रजनीकांत शुक्ला का अपहरण कर लिया। सरेराह हुई इस वारदात से सनसनी फैल गई। पुलिस ने घेराबंदी कर करेली इलाके में कार को रोक लिया और फिर अपहरणकर्ता को पकड़ते हुए अगवा हुए प्रबंधक को छुड़ा लिया। पूछताछ में पता चला है कि प्रबंधक ने नौकरी लगवाने के लिए पैसा लिया था और 13 लाख वापस न करने पर घटना को अंजाम दिया। मामले में पैथोलाजिस्ट शिव नारायण पांडेय को गिरफ्तार कर लिया गया है, जबकि उसके भाई, भतीजा समेत अन्य की तलाश चल रही है।

adv

यह था मामला

पुलिस के मुताबिक, औद्योगिक थाना अंतर्गत बेंदों गांव निवासी रजनीकांत शुक्ला श्रीसत्य विद्यापीठ इंटर कालेज के प्रबंधक हैं। छह साल पहले उनका संपर्क बेनीगंज करेली निवासी शिव नारायण से हुआ था। शिव नारायण गंगा अस्पताल में पैथोलाजिस्ट है। आरोप है कि रजनीकांत ने शिक्षक पद पर नौकरी लगवाने के लिए वर्ष 2016 में 33 लाख रुपये लिया था। इसके बाद उन्होंने शिवनारायण की बेटी छाया की नौकरी लगवा दी, लेकिन श्याम नारायण की बेटी आरती की नौकरी नहीं लग सकी। तब प्रबंधक से पैसा वापस मांगा जाने लगा। 2017 में उसने चेक दिया, मगर बाउंस हो गया। पैसे को लेकर कई बार विवाद और पंचायत भी हुई थी। गुरुवार शाम करीब चार बजे रजनीकांत बीएसए दफ्तर से मनमोहन पार्क के पास जीप से पहुंचे। फिर वह नलनी फोटो स्टेट में कुछ कागजात का जिराक्स कराने लगे। इसी दौरान वहां पहुंचे युवकों ने असलहे के बल पर प्रबंधक को नीले रंग की कार में जबरन बैठा लिया। घटना से वहां खलबली मच गई तो कुछ लोगों ने वीडियो बनाकर इंटरनेट मीडिया पर वायरल कर दिया। खबर मिलते ही पूरे शहर में जांच लगा दी गई और कुछ देर बाद कार को करेली में रोककर प्रबंधक को छुड़ा लिया गया।

यह भी पढ़े- प्रयागराज में मां ने अपने प्रेमी से किया बेटी की इज्जत का सौदा, गुस्साई बेटी ने पीट पीटकर ले ली जान

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here