लखनऊ: उत्तर प्रदेश राज्य प्रवेश परीक्षा-2018 (यूपीएसईई) व पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा का परिणाम बुधवार को घोषित हो गया। जिसमें गौतमबुद्धनगर के आदित्य सिंह ने पहला स्थान हासिल किया है, जबकि मेरठ के दीपांकर कंसल ने दूसरा व लखनऊ के आकाश वर्धन ने तीसरा स्थान हासिल किया है। प्रदेश सरकार ने तीन श्रेणियों में प्रवेश लेने वाले 100-100 मेधावियों में कुल 300 लैपटॉप बांटने का ऐलान किया है।

विधान भवन सभागार में पत्रकारों से बातचीत में प्राविधिक शिक्षा मंत्री ने कहा कि पॉलीटेक्निक प्रवेश परीक्षा के अलग-अलग वर्गों के 300 टॉपर्स को भी लैपटॉप दिए जाएंगे। इस तरह दोनों ही प्रवेश परीक्षाओं के परिणाम में 100-100 ओवरआल टॉपरों, महिला वर्ग में 100-100 टापरों और और एससी-एसटी वर्ग में 100-100 टॉपरों को मिलाकर कुल 600 टॉपरों को लैपटॉप मिलेगा। ऐसा पहली बार है कि टॉपरों को दाखिला लेने पर लैपटॉप दिए जाएंगे।

श्री टंडन ने बताया कि बीटेक प्रवेश परीक्षा में मेरठ के अक्षज बंसल को चौथा, गाजियाबाद के पारस मल्ली को पांचवां, कानपुर के निश्चल त्रिपाठी को छठवां, गौतमबुद्धनगर के अमोख वर्मा को सातवां, गोरखपुर की नंदिनी जालान को आठवां, गाजियाबाद के प्रशांत मिश्रा को नौवां व कानपुर के उत्कर्ष गुप्ता को दसवां स्थान मिला है। बीआर्क में गाजियाबाद के कार्तिकेय सिंह को पहला और राजधानी लखनऊ की इशिका सिंह को प्रदेश में दूसरा स्थान मिला है, जबकि बीफार्मा की प्रवेश परीक्षा में भी गाजियाबाद के कार्तिकेय सिंह को पहला स्थान मिला है। बीफार्मा में दूसरा स्थान मुजफ्फरनगर के लुइस को दूसरा व मानसी अग्रवाल को तीसरा स्थान मिला है।

डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय (एकेटीयू) के कुलपति प्रो. विनय कुमार पाठक ने बताया कि प्रवेश परीक्षा बीटेक, बीआर्क, बीडेस, बीफार्म, बीएचएमसीटी, बीएफएडी, बीएएफ, एमबीए, एमबीए(इंटीग्रेटेड), एमसीए, एमसीए (इंटीग्रेटेड)व बीटेक, बीफार्म(लेटरल एंट्री) के लिए आयोजित हुई थी। प्रवेश परीक्षा में कुल एक लाख 56 हजार 452 परीक्षार्थी शामिल हुए थे। इसमें से एक लाख 43 हजार 551 अभ्यर्थियों ने परीक्षा उत्तीर्ण की है।

एकेटीयू से प्रदेश भर में 597 संस्थान संबद्ध हैं, जिनमें मैनेजमेंट व इंजीनियरिंग की कुल सीटें लगभग एक लाख 47 हजार हैं। यूपीएसईई के जरिए ही ये सीटें भरी जाएंगी। हालांकि जो सीटें खाली रहेंगी, उनको भरने के लिए सीधी प्रवेश प्रक्रिया भी अपनाई जाएगी।

कुलपति ने बताया कि 25 जून से काउंसलिंग प्रक्रिया की शुरुआत होगी। इस बार काउंसलिंग प्रक्रिया तीन चरणों में होगी। पहले चरण की काउंसलिंग पूरी होने के बाद 29 और 30 जुलाई को सरकारी संस्थानों की बची हुई सीटों पर स्पॉट काउंसलिंग होगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here