नई दिल्ली: अक्टूबर से कोरोना वायरस के खिलाफ रूस बड़ा वैक्सीनेशन कार्यक्रम शुरू करने जा रहा है| रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखैल मुराश्को ने कहा है कि देश के स्वास्थ्य अधिकारी वैक्सीनेशन प्रोग्राम की तैयारी कर रहे हैं| स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि सबसे पहले देश के डॉक्टरों और शिक्षकों को वैक्सीन की खुराक दी जाएगी| रॉयटर्स की रिपोर्ट के मुताबिक, रूस के रेग्युलेटर्स इसी महीने देश की पहली कोरोना वायरस वैक्सीन को मंजूरी दे सकते हैं| हालांकि, बेहद तेजी से वैक्सीन तैयार करने पर कुछ एक्सपर्ट ने चिंता जाहिर की है|

इससे पहले अमेरिका के प्रमुख संक्रामक रोग विशेषज्ञ एंथनी फाउची ने कहा था कि उन्हें लगता है कि रूस और चीन असल में वैक्सीन की टेस्टिंग कर रहे हैं| फाउची ने कहा कि वे नहीं मानते कि अन्य देश अमेरिका से पहले वैक्सीन बना लेंगे और अमेरिका को उन पर निर्भर रहना होगा|

दुनियाभर में कोरोना वायरस की 20 से अधिक वैक्सीन पर काम हो रहा है| वहीं, रूस के स्वास्थ्य मंत्री मिखैल मुराश्को का कहना है कि मॉस्को में स्थित गमलेया इंस्टीट्यूट ने रूसी वैक्सीन का क्लिनिकल ट्रायल पूरा कर लिया है और अब पेपरवर्क का काम हो रहा है|

बता दें कि रूस में अब तक कोरोना वायरस के 845,443 मामले सामने आ चुके हैं और 14,058 लोगों की मौत हो चुकी है| वहीं, दुनिया में कोरोना वायरस पॉजिटिव लोगों की संख्या 1.8 करोड़ से अधिक हो चुकी है|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here