प्रयागराज: मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान शनिवार को अपनी पत्नी साधना सिंह के साथ ससुर घनश्याम दास मसानी की अस्थियां लेकर प्रयागराज पहुंचे। यहां गंगा-यमुना के संगम पर उन्होंने विधि विधान से अपने साले अरुण मसानी और संजय मसानी के साथ पूचन अर्चन कर ससुर की अस्थियां संगम में विसर्जित की। 

महाराष्ट्र के गोंडिया से चार्टेड प्लेन से शिवराज सिंह चौहान सुबह 11.30 बजे के आसपास प्रयागराज एयरपोर्ट पहुंचे। यहां कैबिनेट मंत्री नंद गोपाल गुप्ता नंदी ने उनकी अगुवाई की। एयरपोर्ट से सभी लोग सीधे बाघम्बरी मठ पहुंचे। वहां अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि से मुलाकात की। इसके बाद अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष के साथ मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान वीआईपी घाट से स्टीमर द्वारा संगम पहुंचे।

यहां विधि विधान पूर्वक पूजन अर्चन के बाद स्वर्गीय घनश्याम दास मसानी की अस्थियां संगम में विसर्जित की गई। इस दौरान कैबिनेट मंत्री नंदी भी मौजूद रहे। विसर्जन के बाद एक बार फिर सभी लोग बाघम्बरी मठ पहुंचे। यहां जिला प्रशासन के वरिष्ठ अफसर भी प्रोटोकाल के तहत पहुंचे। मठ में ही प्रसाद ग्रहण कर मुख्यमंत्री एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गए। शाम 5.30 बजे वह चार्टेड प्लेन से रवाना हो गए। 

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के ससुर घनश्याम दास मसानी का 88 वर्ष की उम्र में 19 नवंबर को निधन हुआ था। उन्हीं का अस्थि कलश लेकर शिवराज चौहान प्रयागराज पहुंचे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here