प्रयागराज: छात्रों से बकायदे बिजली शुल्क वसूलने के बाद भी इलाहाबाद केंद्रीय विश्वविद्यालय (इविवि) के हॉस्टलों पर कुल 6.96 करोड़ रुपये बिजली बिल बकाया है। अब इविवि के इंजीनियर ने डीएसडब्ल्यू प्रोफेसर केपी सिंह को पत्र लिखकर बकाया बिल भुगतान करने को कहा है। ऐसे में डीएसडब्ल्यू ने सभी हॉस्टलों के अधीक्षकों से पत्र साझा किया है। साथ ही स्पष्ट किया है कि सभी अधीक्षक अपने हॉस्टलों के बकाया बिल का भुगतान करें। अब हॉस्टल अधीक्षकों में भी खलबली मची है। क्योंकि, कोरोना वायरस संक्रमण की वजह से अप्रैल से हॉस्टल खाली पड़े हैं। ऐसे में हॉस्टलों की फीस भी छात्रों ने नहीं जमा की है।

हॉस्टलों का बिजली बिल भुगतान करने के लिए बिजली विभाग ने कई बाद इविवि के प्रशासनिक अफसरों को भी पत्र लिखने और नोटिस के बाद आंशिक भुगतान किया गया। जिसके बाद साथ ही चेतावनी भी दी कि यदि बिल का भुगतान नहीं होता है तो कनेक्शन काट दिया जाएगा। ऐसे में हर बार इविवि प्रशासन की तरफ से आंशिक भुगतान किया जाता रहा है।

इविवि के जनसंपर्क अधिकारी डॉ. शैलेंद्र मिश्र का कहना है कि ट्रस्ट के हॉस्टलों पर बिजली का बिल अधिक बकाया है। उसके लिए हॉस्टल ही जिम्मेदार हैं। इविवि के हॉस्टलों पर बकाए बिजली बिल का भुगतान करने के लिए हॉस्टल और इविवि प्रशासन गंभीर हैं। जल्द ही इसका निदान भी किया जाएगा।

किस हॉस्‍टल पर कितना बकाया

सर जीएन झा हॉस्टल 5846997

डॉ. एसआरके हॉस्टल 5010603

इंटरनेशनल हॉस्टल 336006

शताब्दी ब्वाएज हॉस्टल 5389716

डॉ. ताराचंद हॉस्टल 27113259

पीडी गल्र्स हॉस्टल 36539

एसएसएल हॉस्टल 7420830

पंत हॉस्टल 2144456

एएन झा हॉस्टल 347879

डीजे हॉस्टल 4245096

सर पीसीबी हॉस्टल 6240282

एसएन गल्र्स हॉस्टल 20098

शताब्दी गलर्स हॉस्टल 32067

हॉल ऑफ रेजिडेंस 939374

महादेवी वर्मा गल्र्स हॉस्टल 2589449

कल्पना चावला गल्र्स हॉस्टल 1917745

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here