लखनऊ: प्रदेश में मंगलवार को भाजपा के छह विधायकों समेत आठ नेताओं को व्हाट्सएप मैसेज कर 10-10 लाख रुपये की रंगदारी माँगने से सनसनी फ़ैल गई। वहीं रंगदारी की रकम तीन दिन में न देने पर परिवार को जान से मारने की भी धमकी दी है। फ़िलहाल जाँच में एटीएस और एसटीएफ को लगाने के अलावा पुलिस इन नेताओं को सुरक्षा देने की भी तयारी कर रही है| इसके अलावा डिबाई की विधायक अनीता लोधी को मंगलवार को फिर ऐसी ही धमकी मिली।

सीतापुर के म्होली से भाजपा विधायक शशांक त्रिवेदी ने सोमवार रात 2.03 बजे मैसेज भेजकर रंगदारी माँगने के मामले में महानगर कोतवाली में एफआईआर दर्ज कराई है। वहीं, तरबगंज विधायक प्रेम नारायण पांडेय और मेहनौन विधायक विनय कुमार द्विवेदी ने हजरतगंज कोतवाली में केस दर्ज कराया है।

सभी भाजपा नेताओं को +1(903)329-4240 नंबर से व्हाट्सएप मैसेज किया गया। इसमें लिखा है, ‘मैं हूं अली बुदेश भाई। अगर आप अपनी और परिवार की सुरक्षा चाहते हैं तो तीन दिनों में 10 लाख की व्यवस्था करें। मुझे पता है कि आप पैसे की व्यवस्था तब तक नहीं करेंगे, जब तक अपने परिवार का एक मृत शरीर नहीं देखेंगे। हम वादा करते हैं कि तीन दिनों के बाद एक-एक करके हत्या करना शुरू कर देंगे। आपके पास केवल तीन दिन हैं। मेरा व्यक्ति आपके करीब है। समय बर्बाद मत करो।’

विधायक शशांक ने बताया कि जिस नंबर से मैसेज आया वह अमेरिका के टेक्सास शहर का है। धमकी देने वाला अली बुदेश दुबई का माफिया है और अंतरराष्ट्रीय आतंकवादी दाऊद इब्राहिम का गुर्गा है। त्रिवेदी ने दाउद के इशारे पर ही रंगदारी वसूलने की आशंका जताई है।

डिबाई से भाजपा विधायक अनीता लोधी राजपूत को मंगलवार को चौथी बार 10 लाख रुपये की रंगदारी माँगी गई और रंगदारी न देने पर हत्या की धमकी दी गई। इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने विधायक को फोन कर मामले की जानकारी लेकर कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

मामले पर डीजीपी ओम प्रकाश सिंह का कहना है, ‘अभी तक जो भी शिकायतें मिली हैं, सब एक तरह की हैं। एक ही नंबर का इस्तेमाल किया गया है। सभी काल वायस ओवर इंटरनेट प्रोटोकाल (वीओआईपी) से की गई हैं। हम धमकी देने वालों के काफी करीब पहुंच चुके हैं। वह जल्द ही पुलिस की गिरफ्त में होगा।’

1 COMMENT

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here