कानपुर: यूँ तो गूगल के पास दुनिया भर के सवालों का जवाब है| मगर गूगल के कुछ जवाब आपको मुसीबत में डाल सकते है| इन चीजों को सर्च करने भर से ही यह आपको मुसीबत में डाल देगा|

adv

बम बनाने का तरीका

गूगल पर भूलकर भी क्राइम करने का तरीका ना ढूंढ़ें। जैसे ही आप बम बनाने का तरीका या इससे संबंधित कोई सवाल टाइप करें, आपका आईपी एड्रेस सुरक्षा एजेंसियों को दे दिया जाएगा। यही नहीं अगर आपने गूगल पर नया प्रेशर कूकर खरीदने को लेकर कोई सवाल पूछा और उसी आईपी एड्रेस से आपके बेटे ने अपने स्कूल प्रोजेक्ट के लिए आतंकी हमलों के बारे में सवाल टाइप किया, तो इन सूचनाओं को भी गूगल उन एजेंसियों को भेजेगा। इसके बाद संभव है कि आप पुलिस के फेरे में पड़ जाएं।

आत्महत्या करने का तरीका

जैसे ही आप गूगल पर यह सवाल टाइप करेंगे फौरन गूगल आपको एक हेल्पलाइन नंबर देगा। अगर आपने उस नंबर पर कॉल किया तो वह फोन एक काउंसलर को जाएगा जो आपको ऐसे ना करने को कहेगा। अगर आप हेल्पलाइन नंबर को दरकिनार कर, नीचे के सर्च रिजल्ट्स पर जाएंगे तो भी ऐसा कोई आर्टिकल आपको नहीं दिखेगा जिसमें आपके सवाल का जवाब मिले।

अगर गूगल पर एक-दो लेख ऐसे मिल भी जाएं, तो उसमें भी सुसाइड के तरीके बताने से पहले आपको ऐसा ना करने की ही सलाह दी जाएगी। आपको उन लोगों का वास्ता दिया जाएगा जो आपके सबसे करीब हैं और जिन्हें आपकी मौत का सबसे ज्यादा दुख होगा। इसका मकसद यह होता है कि जो भी शख्स यह खतरनाक कदम उठाने के बारे में सोचे, उसे खुद उन लेख को पढ़कर शर्मिंदगी महसूस हो।

बीमारी

अगर आपकी तबीयत खराब लग रही है और आप अपने लक्षणों के आधार पर यह पता लगाना चाहते हैं कि कहीं आपको कोई बीमारी तो नहीं, तो भूलकर भी गूगल का सहारा ना लें। अगर आपने गूगल पर उन सिम्पटम्स के बारे में लिखा तो संभव है कि वह आपको किसी जानलेवा बीमारी के बारे में बता दे। मगर जरूरी नहीं कि आपको वह बामारी हो क्योंकि कई सामान्य बीमारियों में भी आम लक्षण-कमजोरी, उल्टी, चक्कर आना आदि पाए गए हैं। इसलिए जब भी आपको अपनी सेहत से जुड़ी कोई जानकारी चाहिए सीधे डॉक्टर के पास जाएं।

ई-मेल सर्च करना


आप भी अपनी ई-मेल को गूगल पर ना सर्च करें. यह आपकी निजी जानकारी के लिए बेहद खतरा पैदा कर सकता है. क्योंकि ऐसा न करने पर हैकिंग के जरिए आपका अकाउंट हैक और पासवर्ड लीक हो सकते हैं. जो आपको किसी स्कैम में भी फंस सकता है.

पहचान देखना

कई लोग अपनी पहचान जानने के लिए गूगल सर्च का इस्तेमाल करते हैं| ऐसा करने से आपकी निजी जानकारी लीक हो सकती है| क्योंकि गूगल के पास आपकी सर्च हिस्ट्री का पूरा डेटाबेस होता है| बार-बार सर्च करने से इसके लीक होने का खतरा है|

कस्टमर केयर नंबर

कई बार हम किसी प्रोडक्ट सें संबंधित समस्या होने पर गूगल सर्च के जरिए कस्टमर केयर को कॉल करने के लिए नंबर सर्च करते हैं| यह भी सुरक्षा के लिहाज से खतरनाक है| क्योंकि हैकर्स फेक फर्जी हेल्पलाइन नंबर Google Search में फ्लोट करते हैं| ऐसे में जब आप उस नंबर पर कॉल करेंगे तो आपका नंबर हैकर्स के पास पहुंच जाता है| जिसके बाद हैकर्स आपको आपके नंबर पर कॉल करके साइबर क्राइम को अंजाम दे सकते हैं|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here