5G की दौड़ से बाहर हो सकती है चीनी कंपनी Huawei

नई दिल्ली: भारत-चीन के बीच ताजा तनातनी भारत में 5G सेवाओं का एक प्रमुख दावेदार Huawei पर रोक लग सकती है| भारत में 5G की नीलामी फिलहाल एक साल के लिए टाली गई है लेकिन पिछले साल हुवै को 5G ट्रायल में भाग लेने की अनुमति दी गई थी|

अमेरिका दुनिया भर के देशों पर दबाव डाल रहा है कि हुवै को बाहर रखा जाए| अमेरिका में हुवै के उत्पादों पर मई 2021 तक के लिए पाबंदी लगाई गई है| सूत्रों से खबर है कि कल मोदी सरकार के वरिष्ठ मंत्रियों की बैठक में 5G पर चर्चा हुई| गृह मंत्री अमित शाह, कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद , विदेश मंत्री एस जयशंकर और वाणिज्य मंत्री पीयूष गोयल बैठक में शामिल हुए|

भारत में हुवै का विरोध हो रहा है क्योंकि इसके संस्थापक के पीएलए से रिश्ते बताए जाते हैं| सीमा विवाद के बाद देश में बदले माहौल में हुवै के लिए रास्ता मुश्किल होगा| भारत में सुरक्षा कारणों से हुवै को लेकर चिंता जताई गई है|

बता दे कि सिंगापुर में 5G की दौड़ से हुवै बाहर हो चुका है| वहां नोकिया और एरिक्सन को मौका मिला है| अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया में सुरक्षा कारणों के मद्देनजर हुवै को ट्रायल से बाहर रखा गया था| माना जा रहा है कि भारत सरकार भी हुवै पर कार्रवाई कर सकती है|

गौरतलब है कि देश की सुरक्षा पर खतरे वाले टिकटॉक समेत 59 चीनी ऐप्स पर कल बैन लगा दिया गया है| इसके अलावा चीन के दूसरे ऐप पर भी बैन की तलवार लटकी हुई है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »