लखनऊ: मरकजी चांद कमेटी के अध्यक्ष एवं ईदगाह के इमाम मौलाना खालिद रशीद फरंगी महली द्वारा जिलहिज्ज का चांद दिखने का ऐलान करने के बाद ईद-उल-अजहा यानी बकरीद 22 अगस्त को मनाई जाएगी।

मौलाना ने बताया कि इस्लामी महीने जीकादा की 29 तारीख रविवार को जिलहिज्ज का चांद दिखने की तस्दीक हो गई है। जिलहिज्ज की पहली तारीख 13 अगस्त को होगी और ईद-उल-अजहा 22 अगस्त को मनाई जाएगी।

मौलाना ने बताया कि ईदगाह में ईद-उल-अजहा की नमाज सुबह 10 बजे अदा की जाएगी। वहीं, शिया चांद कमेटी के अध्यक्ष मौलाना सैफ अब्बास नकवी ने भी जिलहिज्ज का चांद दिखने का ऐलान कर दिया है।

वहीं, इदारा-ए-शरिया दारुलइफ्ता वलकजा हनफिया निजामिया फिरंगी महल टकसाल के अध्यक्ष और मुफ्ती अबुल इरफान फिरंगी महली ने चांद नहीं होने का ऐलान किया है। उनका कहना है कि चांद दिखने की पुष्टि नहीं हुई है। ईद-उल-अजहा यानी बकरीद 23 अगस्त को मनाई जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here