नई दिल्ली: पीएम मोदी ने मंगलवार को देशवासियों को संबोधित करते हुए कहा था कि सरकार हर एक व्यक्ति तक कोरोना वैक्सीन पहुंचाने की पूरी कोशिश कर रही है| मामले में जानकारी रखने वाले लोगों के मुताबिक, इस काम के लिए सरकार ने 50 हजार करोड़ रुपये तय किए हैं|

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के अनुसार, मोदी सरकार ने 130 करोड़ से ज्यादा आबादी वाले देश में प्रति व्यक्ति वैक्सीन का खर्च 6-7 डॉलर का अनुमान लगाया है| रिपोर्ट बताती है कि तय की गई यह राशि जारी वित्त वर्ष के लिए है और इस काम के लिए आगे फंड की कोई कमी नहीं होगी| माना जा रहा है कि भारत में एक व्यक्ति को दो इंजेक्शन की जरूरत होगी, जिसकी कीमत दो डॉलर प्रति शॉट होगी| इसके अलावा 2-3 डॉलर का खर्च वैक्सीन के स्टोरेज और ट्रांसपोर्ट में आएगा|

कोरोना वायरस के कारण भारत समेत दुनिया के कई बड़े देशों की आर्थिक कमर टूट गई है| भारत में करीब 3 महीनों तक चले लॉकडाउन को चरणबद्ध तरीके से खोल दिया गया है| अपने वार्षिक वर्ल्ड इकोनॉमिक आउटलुक में अंतरराष्ट्रीय मुद्रा कोष ने फाइनेंशियल ईयर 2020 के लिए बढ़त को -10.3 बताया था| हालांकि, आईएमएफ ने यह भी कहा था कि 2021 में भारत की स्थिति 8.8 प्रतिशत की दर से सुधरने की संभावना है, लेकिन इसके लिए नई दिल्ली को अलग-अलग क्षेत्रों में अपने प्रयास बढ़ाने होंगे|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here