अमरावती/मलकानगिरि: आंध्र प्रदेश के विशाखापत्तनम जिले में बुधवार तड़के राज्य पुलिस के ‘एलीट ग्रेहाउंड्स’ के साथ कथित मुठभेड़ में प्रतिबंधित भाकपा (माओवादी) की तीन महिला सदस्य सहित कुल छह कथित माओवादी मारे गए| वहीं, पड़ोसी ओडिशा के मलकानगिरि जिले में भी सुरक्षाबलों और माओवादियों के बीच गोलीबारी की घटना हुई|

adv

अधिकरियों के मुताबिक मारे गए माओवादिया में जिला समिति कमांडर सांदे गंगिया शामिल है| विशाखापत्तनम के पुलिस अधीक्षक बी कृष्ण राव ने बताया कि अबतक मारे गए पांच माओवादियों की पहचान हो चुकी है जबकि एक महिला सदस्य की पहचान की जानी बाकी है| उन्होंने बताया कि माम्पा पुलिस थाने के तहत आने वाले तीगलमिट्टा जंगल क्षेत्र में भाकपा (माओवादी) और राज्य के नक्सल रोधी बल ग्रेहाउंड्स के बीच मुठभेड़ हुई|

कृष्ण राव ने बताया, ‘‘हमें सूचना मिली थी कि करीब 30 माओवादी गुप्त बैठक के लिए जंगल में एकत्रित हुए हैं| उनके बारे में जानकारी मिली थी कि वे स्थानीय आदिवासियों को परेशान कर रहे थे| हमने उनकी तलाश के लिए जंगल के इलाके में अपने जवानों को भेजा|’’

पुलिस अधीक्षक ने बताया कि माओवादियों ने पहाड़ी पर से पुलिस कर्मियों पर गोलीबारी शुरू कर दी और ‘‘ बार-बार अनुरोध करने के बावजूद आत्मसमर्पण करने से इनकार कर दिया|’’ उन्होंने बताया, ‘‘ आत्मरक्षा में हमारे लोगों ने भी गोली चलाई और आगे बढ़े| हमें जंगल में छह माओवादियों के शव मिले हैं| घटनास्थल से एक एके-47, एक एसएलआर, एक कार्बाइन, तीन .303 राइफल और एक तमंचा बरामद हुआ है|’’

कृष्ण राव ने कहा कि सूचना मिली है कि गोलीबारी में कुछ माओवादी घायल भी हुए हैं| उन्होंने कहा, ‘‘अगर कोई माओवादी आत्मसमर्पण करता है तो हम उसके लिए बेहतर चिकित्सा सुविधा सुनिश्चित करेंगे| पहले भी इसी तरह की मुठभेड़ में घायल महिला माओवादी को हमने अस्पताल में भर्ती कराया था और पूरा इलाज कराया था| अत: वे बिना किसी आशंका के आकर आत्मसमर्पण कर सकते हैं|’’

वहीं, विशाखापत्तनम से करीब 200 किलोमीटर दूर ओडिशा के मलकानगिरि जिले के कुलाबेड़ा जंगल में माओवादियों के साथ उस समय भारी गोलीबारी हुई जब राज्य पुलिस के स्पेशल ऑपरेशन ग्रुप के जवान और जिला स्वयंसेवक बल के सदस्यों ने खुफिया सूचना के आधार पर इलाके में अभियान चलाया|

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here