Advertisement

नई दिल्ली: प्रयागराज में गिरफ्तार आतंकी के कब्जे से तबाही का सारा सामान से बरामद किया गया है. आतंकियों के कब्जे से दो किलो आरडीएक्स, दो हथगोले, दो इटेलियन पिस्टल व भारी मात्रा में कारतूस बरामद किए गए हैं. पूरे देश को दहलाने की साजिश रच रहे थे. प्रयागराज से गिरफ्तार आतंकी जीशान व विस्फोटक को दिल्ली लाया जा रहा है. इतनी मात्रा में विस्फोटक मिलने से सुरक्षा एंजेसियों के कान खड़े हो गए हैं.

adv

दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दावा किया है कि आरडीएक्स व हथगोले पाकिस्तान से भारत आए हैं. अभी तो विस्फोटक व हथियार एकत्रित किए जा रहे थे. पाकिस्तान से अभी और विस्फोटक व हथियार आने थे. विस्फोटक व हथियारों को लाने-जे जाने का काम चल रहा था. साथ में जिन जगहों पर बम धमाके करने थे उन जगहों की रैकी जा रही थी. स्पेशल सेल के एक वरिष्ठ अधिकारी ने दावा किया है कि ये आतंकियों का एक मोड्यूल का पर्दाफाश हुआ है. शुरूआती जांच में ये बात सामने आ रही है कि आतंकियों के कई मोड्यूल अभी देश में हैं. देश में 15 से 20 आतंकी और हो सकते हैं. 

वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया कि और आतंकियों को पकड़ने के लिए पूरे देश में दबिश दी जा रही है. गिरफ्तार आतंकियों ने शुरूआती पूछताछ में खुलासा किया है कि उनको देश में दिल्ली समेत मेट्रो शहरों में सीरियल बम धमाके करने थे. ओसामा व जीशान बम बनाने की तैयारी कर रहे थे. इन्होंने दो आईईडी बना ली थीं. पूछताछ में ये बात भी सामने आई कि आतंकियों को राजनेताओं समेत कई धार्मिक नेताओं की टारगेट किलिंग करनी थी. ये भी बात भी सामने आ रही है कि दिल्ली के बाद अयोध्या समेत यूपी इनके आतंकियों के निशाने पर थी.
 
देश को दहलाने के लिए पाकिस्तान की खुफिया एजेंसी आईएसआई ने अंडरवर्ल्ड से सांठगांठ की है. अंडरवर्ल्ड एक धर्मविशेष से प्रभावित व अपराधिक प्रवृति के लोगों को बम धमाकों के लिए इस्तेमाल करने की फिराक में है. इस बार अंडरवर्ल्ड को आतंकियों के लिए फंडिंग करना और हवाला के जरिए पैसा भेजने का काम सौंपा गया. आतंकियों के इस मोड्यूल के पर्दाफाश के बाद ये बात सामने आई है कि दाऊद इब्राहिम का भाई अनिस इब्राहिम इस समय पाकिस्तान में है. 

विशेष पुलिस आयुक्त नीरज ठाकुर ने बताया कि आतंकी ओसामा व जीशान मस्कट होकर आतंकी ट्रेनिंग लेने पाकिस्तान गए थे. ओसामा 22 अप्रैल, 2021 को लखनऊ से फ्लाइट से मस्कट गया था। यहां पर उसे जीशान मिला था. जीशान भी आतंकी ट्रेनिंग लेने पाकिस्तान जा रहा था. यहां ग्वादर पोर्ट, पाकिस्तान से वोट के जरिए थाट्टा पाकिस्तान ले जाया गया. इनको कई वोट बदलकर ले जाया था. इनको पाकिस्तान में एक फार्महाउस में रखा गया. फार्महाउस में तीन पाकिस्तानी थे. इनमें से दो पाकिस्तान सेना की वर्दी में रहते थे. वह सेना की वर्दी पहनते थे. उन्हें 15 दिन की आतंकी ट्रेनिंग दी गई थी. ट्रेनिंग के दौरान इनको आईईडी बनाने व हथियार चलाने की ट्रेनिंग दी गई. 

यह भी पढ़े- प्रयागराज में आतंकी गिरफ्तार; IED बम भी बरामद, ISIS समर्थित आतंकी मॉड्यूल का भंडाफोड़

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here