PM मोदी ने राष्ट्रपति को सौंपा इस्तीफा, कल NDA की बैठक में औपचारिक रूप से चुने जाएंगे नेता

23 मार्च को प्रयागराज में पहली होली खेलेंगा किन्नर अखाड़ा

प्रयागराज: किन्नर अखाड़े के प्रमुख आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी लक्ष्मीनारायण त्रिपाठी कुंभ के बाद पहली बार 23 मार्च को प्रयागराज के राजकीय इंटर कॉलेज मैदान में शहर के लोगों और श्रद्धालुओं के साथ 51 क्विंटल गुलाब और गेंदे के फूलों के साथ अपराह्न तीन बजे से होली खेलेंगे। इस दौरान सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होंगे। कार्यक्रम के संयोजक कर्मचारी नेता सुनील पांडेय ने बताया कि, इस दौरान 21 प्रमुख लोगों को सम्मानित भी किया जाएगा। कार्यक्रम में किन्नर अखाड़ा की महामण्डलेश्वर कामिनी, झारखंड की महामण्डलेश्वर डॉ. योगेश्वरी मां, प्रयागराज की पीठाधीश्वर टीना सहित अन्य लोग शामिल होंगे।

गौरतलब हे कि प्रयागराज कुंभ से मजबूत बनकर उभरे किन्नर अखाड़े ने सभी कुंभ नगरियों में अपने आश्रम बनाने का फैसला किया है। मुंबई में अखाड़े की मौजूदगी पहले से है। अब प्रयाग के साथ ही नासिक और हरिद्वार में भी आश्रम की तैयारी है। इसके साथ ही वृंदावन में भी अखाड़े की शाखा बनाने की तैयारी है।

यह भी पढ़े- कुंभ मेले में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएँगे मुसलमान किन्नर

प्रयागराज कुंभ में पेशवाई यात्रा के दौरान उमड़ी भीड़ से ही अखाड़े ने अपनी ताकत दिखा दी थी। इसके बाद जूना अखाड़े ने उसे अपने साथ जोड़ा था। एक तरफ जहां शैव अखाड़े काशी में और वैष्णव अखाड़े मथुरा में होली खेलेंगे वहीं, किन्नर अखाड़े ने प्रयाग में होली खेलने का निर्णय लिया है। अखाड़े के आचार्य महामंडलेश्वर तथा अन्य संत अपनी पहली होली प्रयाग में मनाने जा रहे हैं।


Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

Translate »