ED दफ्तर में राज ठाकरे, 450 करोड़ के IL&FS केस में पूछताछ जारी

1500 खंभों पर टिका है भारत का यह मंदिर

आगरा: अद्भुत मंदिरों, गुफाओं और खूबसूरत विरासतों के लिए जाना जाने वाले भारत में अजूबों की कमी नहीं है। दुनिया में हमारा देश बहुत सी चीजों के लिए खास है। इन खास विरासतों में से एक है राजस्थान के उदयपुर जिले से तकरीबन 100 किलोमीटर की दूरी पर स्थित रणकपुर में स्थित संगमरमर का जैन मंदिर जो अपनी स्थापत्य कला के साथ नक्काशी और विशेष रूप से 1500 खंभों पर टिके होने के कारण पूरी दुनिया के लिए आश्चर्य है।

बता दें कि ये मंदिर जैन धर्म के पांच प्रमुख तीर्थस्थलों में से एक है। साथ ही इस मंदिर को बेहद खूबसूरती से तराशा गया है।

रणकपुर स्थित जैन मंदिर कि सबसे बड़ी खासियत यह है कि ये 1500 खंभों पर टिका हुआ है और पूरी तरह से संगमरमर से बना है। इस मंदिर के द्वार कलात्मक तरह से बनाये गए हैं। मंदिर के मुख्य गृह में तीर्थंकर आदिनाथ की संगमरमर से बनी चार विशाल मूर्तियां भी हैं।

यह भी पढ़े- 1500 सालों से पहाड़ पर लटका है यह मंदिर

इस मंदिर का निर्माण 15वीं शताब्दी में राणा कुंभा के शासनकाल में हुआ था। राणा कुंभा के नाम पर ही इस जगह का नाम रणकपुर पड़ा। मंदिर के अंदर हजारों खंबे हैं जो इसकी विशेषता में चार चांद लगते हैं। खास बात यह है कि इन सभी खंभों से जहां से भी आपकी दृष्टि जाएगी वहीं से मुख्य मूर्ति के दर्शन होंगे. साथ ही, इन खंभों पर शानदार नक्काशी की गई है।

बेहतरीन नक्काशी के लिए दुनिया में प्रख्यात इस मंदिर को देखने पूरी दुनिया से लोग आते हैं। जैन मंदिर में 76 छोटे गुंबदनुमा पवित्र स्थान, चार बड़े प्रार्थना कक्ष तथा चार बड़े पूजन स्थल हैं। ऐसा माना जाता है कि, ये मनुष्य को जीवन-मृत्यु की 84 योनियों से मुक्ति प्राप्त कर मोक्ष प्राप्त करने के लिए प्रेरित करते हैं।

इस मंदिर में भविष्य में किसी संकट का अनुमान लगाते हुए निर्माताओं ने कई तहखाने भी बनवाये हैं। इन तहखानों में पवित्र मूर्तियों को सुरक्षित रखा जा सकता है। ये तहखाने मंदिर के निर्माताओं की निर्माण संबंधी दूरदर्शिता का परिचय देते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »